Australia Canada China India Japan Korea United States

स्वच्छ विकास और जलवायु के लिए एशिया-प्रशांत साझीदारी में आपका स्वागत है।

स्वच्छ ऊर्जा तकनीकों के विकास और तैनाती को गति देने के लिए स्वच्छ विकास और जलवायु पर बनी एशिया-प्रशांत साझीदारी एक नई और मौलिकöयास है।

साझीदार देश

ऊर्जा सुरक्षा, राष्ट्रीय स्तर पर वायु प्रदूषण में कमी और जारी रखने योग्य आर्थिक वृद्धि और गरीबी उन्मूलन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एपीपी साझीदार देश ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीन, भारत, जापान, गणतांत्रिक कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका एक साथ और निजी क्षेत्र के साझीदार के साथ काम करने पर सहमत हो गए हैं। इस साझेदारी का लक्ष्य प्रमुख बाजार क्षेत्रों में स्वच्छतम ऊर्जा तकनीकों में निवेश, व्यापार, माल और सेवाएं बढ़ाना है। साझीदार ने इस संदर्भ में 8 सरकारी-निजी कार्य बलों को मंजूरी दी है

इन सात साझीदार देशों का सामूहिक रूप से विश्व की अर्थव्यवस्था, जनसंख्या और ऊर्जा के इस्तेमाल में आधे से अधिक का योगदान है। अंतरराष्ट्रीय कोयला उत्पादन का 65 फीसदी, सीमेंट उत्पादन का 62 प्रतिशत, एल्यूमीनियम उत्पादन का 59 प्रतिशत और इस्पात उत्पादन का 60 फीसदी से भी अधिक इन देशों में होता है।

एपीपी परियोजना का नक्शा


#

एपीपी की परियोजनाएं ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीन, भारत, जापान, कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका में हैं, जो 8 क्षेत्रीय कार्य बल समूहों में बंटे हुए हैं। एपीपी परियोजनाओं की लोकेशन और विवरण के लिए यहां क्लिक करें।.